27 C
Mumbai
Saturday, February 24, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

भारत, BRICS देशों की तुलना में स्वास्थ्य पर सबसे कम खर्च करता है

नई दिल्ली: भारत, BRICS देशों की तुलना में, कोरोना की दूसरी लहर से जूझते देश में स्वास्थ्य पर होने वाला सरकारी खर्च BRICS के सभी सदस्य देशों में सबसे कम है. यह बात खुद भारत सरकार कह रही है. खबर के मुताबिक आर्थिक मामलों के विभाग (DEA) के सचिव अजय सेठ ने गुरुवार को वित्त मंत्रालय और न्यू डेवलपमेंट बैंक (NDB) द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित एक वर्चुअल सेमिनार में यह बात कही. सेमिनार में उन्होंने यह भी कहा कि देश में स्वास्थ्य सुविधाओं तक आम लोगों की पहुंच को बढ़ाने में टेक्नॉलजी एक अहम रोल निभा सकती है.

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

भारत, BRICS देशों की तुलना में

संसाधन हमेशा ही सीमित होते हैं
सेमिनार में भारत सरकार का प्रतिनिधित्व करते हुए अजय सेठ ने कहा कि स्थायी विकास के लक्ष्य को हासिल करने की कोशिशों को कोरोना महामारी की वजह से बड़ा धक्का लगा है. उन्होंने कहा कि संसाधन तो हमेशा ही सीमित होते हैं. ऐसे में सवाल यह उठता है कि हमारा फोकस किस बात पर है? ज्यादा से ज्यादा लोगों तक फायदा पहुंचाने पर या क्वॉलिटी पर? औसत उम्र की बात हो या स्वास्थ्य और शिक्षा पर किए जाने वाले सरकारी खर्च की, अलग-अलग देशों में इनकी स्थिति में भारी अंतर है.

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

टेक्नॉलजी का इस्तेमाल लाभप्रद
सेठ ने कहा कि यहां पर टेक्नॉलजी के इस्तेमाल से हमें स्वास्थ्य सेवाओं की डिलीवरी में मदद मिल सकती है. मिसाल के तौर पर टेलीमेडिसिन और डायग्नोस्टिक इंटरप्रेटेशन यानी जांच के विश्लेषण जैसे क्षेत्रों में तकनीक बड़ी भूमिका निभा सकती है.

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

लेकिन तकनीक का इस्तेमाल इस तरह से होना चाहिए, जिससे डिजिटल डिवाइड और बढ़े नहीं, बल्कि गरीबों को सबसे पहले सुविधाएं मिल सकें. सेठ ने कहा कि हमें ऐसी तकनीक विकसित करनी है, जिसका लाभ समाज के अंतिम पायदान पर खड़े लोगों को सबसे पहले मिल सके.

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here