30 C
Mumbai
Sunday, April 21, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

‘मतदान केंद्रों की वीडियो रिकॉर्डिंग हो चुनाव में’, चुनाव आयोग से भाजपा की अपील; बंगाल को लेकर कही यह बात

भाजपा ने बुधवार को चुनाव आयोग से आगामी आम चुनाव के दौरान सभी मतदान केंद्रों पर मतदान प्रक्रिया की वीडियो रिकॉर्डिंग करने और ऊंची इमारतों वाले परिसरों में बूथ बनाने करने की अपील की है।

ज्ञापन में भाजपा ने चुनाव आयोग से अपील की है कि मतदान के दौरान पार्टी कार्यकर्ताओं द्वारा अपने घरों पर झंडे लगाने, दीवार पर पेंटिंग बनाने से संबंधित नियमों को स्पष्ट किया जाए। गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अरुण सिंह समेत भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने मांगों के साथ चुनाव आयोग से मुलाकात की।

भाजपा हमेशा से पारदर्शी चुनाव की पक्षधर रही- वैष्णव
पत्रकारों से बातचीत में अश्विनी वैष्णव ने कहा कि भाजपा हमेशा से पारदर्शी चुनाव के पक्षधर रही है, जिससे चुनाव में मतदाताओं की भागीदारी को बढ़ाया जा सके। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रतिनिधिमंडल ने चुनाव आयोग से शहरी क्षेत्रों में ऊंचे अपार्टमेंट परिसरों में बूथ स्थापित करने का आग्रह किया ताकि ऐसे आवासीय भवनों में मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग कर सकें। वैष्णव ने कहा कि हमारा अनुरोध यह था कि चुनाव के दौरान 100 प्रतिशत मतदान केंद्रों पर वीडियो रिकॉर्डिंग की जाए।

चुनाव आयोग को सौंपे ज्ञापन में भाजपा ने राजनीतिक दलों की मीडिया सामग्री के लिए अनुमोदन प्रक्रिया में सुधार करने पर विचार करने का भी आग्रह किया, ताकि इसे तेज बनाया जा सके। भाजपा ने कहा कि जिससे दलों को अभियान की योजना बनाने के लिए पर्याप्त समय मिल सके। गौरतलब है कि चुनाव आयोग के मुताबिक, आगामी लोकसभा चुनाव के लिए देशभर में 12 लाख से ज्यादा मतदान केंद्र बनाए जाएंगे। 

सुवेंदु अधिकारी ने बंगाल के चुनाव पैनल प्रमुख को सौंपा ज्ञापन
भाजपा ने बुधवार को पश्चिम बंगाल के मुख्य निर्वाचन अधिकारी (सीईओ) को एक ज्ञापन सौंपकर राज्य में लगभग 16 लाख फर्जी या डुप्लिकेट मतदाताओं का आरोप लगाया और आयोग से समस्या के समाधान के लिए कदम उठाने की अपील की है। भाजपा नेता और नेता प्रतिपक्ष सुवेंदु अधिकारी ने आश्वासन के बावजूद मुद्दे को संबोधित करने में चुनाव आयोग की विफलता पर निराशा व्यक्त की। उन्होंने कहा कि डुप्लिकेट मतदाताओं को बाहर करने के आश्वासन के बावजूद खास कार्रवाई नहीं की गई। हमें यह कहते हुए खेद है कि व्यावहारिक रूप से कोई कदम नहीं उठाया गया। 

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here