30 C
Mumbai
Thursday, February 2, 2023

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

"मानवाधिकर आभिव्यक्ति, आपकी आभिव्यक्ति" 100% निडर, निष्पक्ष, निर्भीक !

ममता तबादलों को लेकर भड़कीं, बोली चुनाव आयोग नहीं भाजपा आयोग, साथ ही बिना नाम लिये एक दल को वोट न देने अपील भी की

कोलकाता: ममता तबादलों को लेकर भड़कीं, तृणमूल कांग्रेस अध्यक्ष ममता बनर्जी ने गुरुवार को चुनाव आयोग पर आरोप लगाया है. ममता बनर्जी ने गत दिनों निर्वाचन आयोग द्वारा बड़े पैमाने पर राज्य के सीनियर अधिकारियों के किये तबादले कड़ी आपत्ति हुए कहा कि चुनाव आयोग सभी अधिकारियों का भी ट्रांसफर कर दे तब भी टीएमसी की जीत को नहीं रोका जा सकता है।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

एक चुनावी सभा में ममता बनर्जी ने कहा कि ऐसा लगता है जैसे यह निर्वाचन आयोग नहीं भाजपा आयोग है। दरअसल चुनाव के पहले चरण का मतदान होने से दो दिन पहले चुनाव आयोग ने एक आईएएस और चार आईपीएस अधिकारियों को हटा दिया।

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

ममता ने कहा कि उनके मन में निर्वाचन आयोग के लिए अगाध सम्मान है लेकिन मैं निर्वाचन आयोग से सवाल करना चाहती हूं कि आखिर क्यों लोकसभा एवं विधानसभा चुनावों के दौरान पुलिस बलों का नियंत्रण केंद्र के हाथों में होता है? क्यों नहीं ये निर्वाचन आयोग के अधीन होते हैं? उन्होंने आरोप लगाया कि निर्वाचन आयोग उनकी सरकार के प्रति सौतेला व्यवहार कर रहा है।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

ममता बनर्जी ने बीजेपी पर अल्पसंख्यकों के वोट काटने के लिए एक नये राजनीतिक दल की सहायता करने का आरोप लगाया। उन्होंने एक जनसभा में हुए किसी दल या व्यक्ति का नाम लिए बगैर कहा कि उस दल के संस्थापक ने भाजपा से धन लिया है। उन्होंने कहा,“ भाजपा के कहने पर अल्पसंख्यकों के वोट काटने और भगवा दल की मदद के लिए राज्य में एक नये दल का गठन किया गया है। कृपया उस दल के उम्मीदवारों को वोट न दें।”

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here