23 C
Mumbai
Saturday, February 24, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

Exit poll 2023- कांग्रेस तेलंगाना में सरकार बना सकती है, बड़ा झटका लग सकता है BRS को; जानें सब कुछ

तेलंगाना में गुरुवार को मतदान के बाद कुल 2290 उम्मीदवारों की किस्मत ईवीएम में बंद हो चुकी है। यहां 119 विधानसभा सीटों में से 19 अनुसूचित जाति और 12 अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित हैं। चुनाव खत्म होने के बाद अलग-अलग एजेंसियों के एग्जिट पोल जारी किए हैं। 

बहरहाल, नतीजे से पहले हम आपको बता रहे हैं कि इस बार दक्षिणी राज्य के लिए एग्जिट पोल क्या कहते हैं। पिछली बार अनुमानों में क्या कहा गया था? बाद में नतीजे कैसे रहे?

राज्य के लिए एग्जिट पोल क्या कहते हैं?
जन की बात ने अनुमान लगाया है कि राज्य में कांग्रेस बीआरएस की सत्ता को चुनौती देगी। यहां कांग्रेस को 48-64 सीटें मिल सकती हैं। वहीं केसीआर की पार्टी को 40-55 सीटें मिल सकती हैं। भाजपा को 7-13 और अन्य को 4-7 सीटें मिल सकती हैं। 

इंडिया टीवी-सीएनएक्स के अनुसार, यहां कांग्रेस को 63-79 सीटें मिल सकती हैं। वहीं बीआरएस को 31-47 सीटें मिल सकती हैं। भाजपा को 2-4 और अन्य को 5-7 सीटें मिल सकती हैं। 

टाइम्स नाऊ- ईटीजी ने एग्जिट पोल में बीआरएस को 37-45 सीटें, कांग्रेस को 60-70 सीटें, भाजपा को 6-8 सीटें और अन्य को 5-7 सीटें दी हैं। 

न्यूज 24- टुडेज चाणक्या ने अपने एग्जिट पोल में बीआरएस को 33 सीटें, कांग्रेस को 71 सीटें, भाजपा को 7 सीटें और अन्य को 8 सीटें दी हैं। 

रिपब्लिक- मैट्रिज के अनुसार, यहां कांग्रेस को 58-68 सीटें मिल सकती हैं। वहीं बीआरएस को 46-56 सीटें मिल सकती हैं। भाजपा को 4-9 और अन्य को 5-8 सीटें मिल सकती हैं। 

टीवी 9- पोलस्ट्रैट ने अनुमान में बीआरएस को 48-58 सीटें, कांग्रेस को 49-59 सीटें, भाजपा को 5-10 सीटें और अन्य को 6-8 सीटें दी हैं। 

रिपब्लिक- पी मार्क ने एग्जिट पोल में बीआरएस को 37-51 सीटें, कांग्रेस को 58-71 सीटें, भाजपा को 2-6 सीटें और अन्य को 6-9 सीटें दी हैं। 

एबीपी-सी वोटर ने अपने एग्जिट पोल में बीआरएस को 38-54 सीटें, कांग्रेस को 49-65 सीटें, भाजपा को 5-13 सीटें और अन्य को 5-9 सीटें दी हैं। 

पिछले विधानसभा चुनाव के बाद तेलंगाना में तमाम एग्जिट पोल में बताया था कि यहां के. चंद्रशेखर राव की सरकार दोबारा आएगी। तकरीबन सभी एजेंसियों ने टीआरएस को प्रचंड बहुमत का अनुमान जताया था। इसमें कांग्रेस-टीडीपी गठबंधन भी केसीआर की सत्ता को चुनौती देता नहीं दिख रहा था। भाजपा का प्रदर्शन कुछ खास नहीं दिखाया गया था। केसीआर का समय से 9 महीने पहले चुनाव कराने का उनका फैसला सही साबित होता दिखाया गया था। 

टाइम्स नाउ-सीएनएक्स ने एग्जिट पोल में बीआरएस को 66 सीटें, कांग्रेस को 37 सीटें, भाजपा को 7 सीटें और अन्य को 9 सीटें दी थीं। वहीं रिपब्लिक-जन की बात के अनुसार, टीआरएस को 58 सीटें, कांग्रेस-टीडीपी गठबंधन को 45 सीटें, भाजपा को 07 सीटें मिलनी थीं। 

चुनाव नतीजों में 119 सदस्यीय विधानसभा में बीआरएस को सबसे ज्यादा 88 सीटें मिली थीं। इसके बाद कांग्रेस को 19, आईएमआईएम को सात, टीडीपी को दो, भाजपा को एक, एआईएफबी को एक सीट मिली थी। इसके अलावा एक सीट पर निर्दलीय प्रत्याशी को जीत मिली थी। 

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here