31 C
Mumbai
Wednesday, May 29, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

आर्यन को रोहतगी की दलीलों के बावजूद आज भी नहीं मिली ज़मानत, कल फिर होगी सुनवाई

वकीलों की फ़ौज खड़ी करने के बावजूद आर्यन खान को क्रूज़ ड्रग्स पार्टी केस में आज भी ज़मानत नहीं मिली, सुनवाई अब कल दोपहर बाद होगी, इसका मतलब यह हुआ कि कम से कम आज की रात शाहरुख़ के सुपुत्र को जेल मैं और बितानी होगी.

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

मजिस्ट्रेट कोर्ट और सेशंस कोर्ट से जमानत याचिका खारिज होने के बाद आर्यन खान का पक्ष रखने के लिए आज भारत के पूर्व अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी सामने आए. उन्होंने आर्यन खान की गिरफ्तारी को अवैध बताया और इस कार्रवाई पर एनसीबी को कठघरे में खड़ा किया.

उन्होंने आर्यन खान की ओर से एक नया एफिेडेविट पेश किया. मुकुल रोहतगी ने सवाल किया कि आर्यन खान के पास से ड्रग्स की रिकवरी नहीं हुई. आर्यन खान पर कार्रवाई के बाद अब तक मेडिकल जांच नहीं की गई. जब मेडिकल जांच नहीं हुई तो एनसीबी किस आधार पर आर्यन खान पर ड्रग्स लेने का आरोप लगा सकती है. नो रिकवरी, नो मेडिकल, नो ड्रग्स फिर भी आर्यन खान पर NCB ने 27A का धारा लगाया और ड्रग्स रैकेट का हिस्सा बताया.

आर्यन खान की ओर से ड्रग्स की खरीद बिक्री से संबंधित किसी तरह का कोई ट्रांजैक्शन नहीं किया गया है. आर्यन इस पार्टी को फाइनांस नहीं कर रहा था. ऐसे में एनसीबी यह आरोप कैसे लगा सकती है कि वे ड्रग्स की लेन-देने की मामले से जुड़े थे? मुकुल रोहतगी ने कहा कि आर्यन खान के पास क्रूज पार्टी का टिकट नहीं था. वे क्रूज में पहुंचे भी नहीं थे. क्रूज में पहुंचने से पहले ही उन्हें गिरफ्तार किया गया.

मुुकुल रोहतगी ने आर्यन खान की जमानत के पक्ष में दलील देते हुए कहा कि प्रतीक गाभा ने आर्यन खान को क्रूज में आमंत्रित किया था. मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी 2 अक्टूबर को हुई थी. आर्यन खान के मित्र अरबाज मर्चंट के पास 6 ग्राम ड्रग्स बरामद किया गया था. आर्यन के पास से ड्रग्स बरामद नहीं हुआ. एनसीबी कह रही हैं कि आर्यन का ड्रग्स सेवन करते थे. विदेश के लोगों से संपर्क में थे. ये तमाम बातें ट्रायल की है. वहां साबित करना होगा. यहां तो आर्यन खान का एक ही दोस्त था अरबाज मर्चंट. बाकी 20 से आर्यन का कोई संबंध नहीं है.

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

आर्यन खान के जिन चैट्स का हवाला दिया जा रहा है, उसका मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी से कोई संबंध नहीं है. वह चैट किसी और संबंध में किसी और जगह से संबंधित है. ये चैट 2018-2019 के हैं. आर्यन और अचित के बीच कई महिने पहले एक चैट था. किसी खेल को लेकर चैट था. लेकिन इसका अलग ही मतलब निकाला जा रहा है. आर्यन को मुंबई क्रूज ड्रग्स पार्टी के मामले में अरेस्ट करने का कोई कारण नहीं था. आर्यन खान को जानबूझ कर टारगेट किया गया. एनसीबी द्वारा अपने अधिकारों को गलत इस्तेमाल किया गया है.

मुकुल रोहतगी ने कहा कि आर्यन खान दो दिनों के लिए गोवा जा रहे थे. 2 अक्टूबर को क्रूज मुंबई से गोवा जा रही थी. कहा जा रहा है कि क्रूज में ड्रग्स पार्टी हुई. रोहतगी ने कहा कि मान लीजिए की 5-10 युवा एक दूसरे को जानते है और प्लान करते है की चलो पार्टी करते है. लेकिन कोई पार्टी हुई नहीं. पार्टी के पहले ही पकड़ लिया गया. अरबाज ने पहले ही कह दिया है की उसके खिलाफ ड्रग्स प्लांट किया गया हैं. ऐसे में आर्यन खान की गिरफ्तारी पूरी तरह अवैध है.

मुकुल रोहतगी ने कोर्ट में एनसीबी की कार्रवाई पर एक और अहम सवाल किया. रोहतगी ने कहा कि जब आर्यन खान को पकड़ा गया था तब उनका मोबाइल जब्त कर लिया गया. इसका एनसीबी ने अपने पंचनामा में उल्लेख क्यों नहीं किया है. जिस मोबाइल चैट की इतनी बातें हो रही हैं, जिनसे क्रूज ड्रग्स पार्टी का कोई संबंध नहीं है. उस मोबाइल फोन का एनसीबी के पंचनामे में कहीं उल्लेख ही नहीं है?

मुकुल रोहतगी ने आर्यन खान के पक्ष में दलील देते हुए कहा कि एनसीबी बार-बार यह साबित करना चाह रही है कि आर्यन खान ड्रग्स लेते हैं. अगर आर्यन खान ड्रग्स लेते हैं तो एनसीबी को उन्हें अब तक नशामुक्ति केंद्र में भेजा जाना चाहिए था. एनसीबी ने आर्यन खान को अब तक नशामुक्ति केंद्र में भेजा क्यों नहीं? 20 दिनों तक उन्हें हिरासत में क्यों रखा गया. रोहतगी ने कहा कि ये युवा बच्चे हैं. कानून कहता है कि इन्हें विक्टिम के तौर ट्रीट किया जाना चाहिए ना कि आरोपी के तौर पर. अगर उन्होंने सेवन किया भी था तो उन्हें रिहैब किया जाना चाहिए था, ना कि हिरासत में रखा जाना चाहिए था.

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

इससे पहले एनसीबी ने आर्यन खान को जमानत दिए जाने का जोरदार विरोध किया. एनसीबी ने आर्यन खान पर ड्रग्स लेने और इंटरनेशनल ड्रग्स ट्रैफिकिंग से जु़ड़े होने का इल्ज़ाम लगाया. एनसीबी ने हाईकोर्ट में दलील दी कि गवाहों को खरीदा जा रहा है. सबूतों से छेड़-छाड़ की कोशिश की जा रही है.

एनसीबी ने शाहरुख की मैनेजर पूजा ददलानी का नाम लेकर कहा कि वे इस काम में लगी हुई हैं. एनसीबी ने कहा कि जमानत अर्जी खारिज करने के लिए सिर्फ यही वजह काफी है. अगर आर्यन को जमानत दी गई तो सबूतों को नष्ट किया जा सकता है. आर्यन देश छोड़ कर जा सकते हैं.

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here