29 C
Mumbai
Monday, June 27, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

"मानवाधिकर आभिव्यक्ति, आपकी आभिव्यक्ति" 100% निडर, निष्पक्ष, निर्भीक !

कानपुर में बेटी के गैंगरेप का मामला दर्ज कराने वाले पिता को ट्रक ने रौंदा, आरोपी के पिता यूपी पुलिस में सब – इन्सपेक्टर

कानपुर: उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक 13 साल की बच्ची के पिता ने उसके साथ हुए कथित गैंगरेप के खिलाफ केस दर्ज कराया था और इसके दो दिनों के बाद ही बुधवार सुबह एक अस्पताल के बाहर पिता की सड़क हादसे में मौत हो गई है. पीड़िता को मेडिकल चेकअप के लिए अस्पताल ले जाया गया था. इस मामले में उसके ही गांव के तीन लोगों का नाम लिया गया है.

आरोपी के पिता हैं सब-इंस्पेक्टर
मामले में दो आरोपी- दीपू यादव और सौरभ यादव के पिता यूपी पुलिस में सब-इंस्पेक्टर हैं और कानपुर से लगभग 100 किलोमीटर दूर कन्नौज जिले में तैनात हैं. मामले में एक तीसरे आरोपी गोलू यादव को गिरफ्तार किया जा चुका है. हालांकि, पीड़िता के परिवार ने पुलिस पर कई गंभीर आरोप लगाए गए हैं. परिवार का कहना है कि आरोपी का परिवार उन्हें केस फाइल किए जाने के बाद से ही धमका रहा था और पुलिस की भूमिका मामले में ‘मिली-जुली है’.

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

बेटे की हत्या का आरोप
पीड़िता के दादा ने आज सुबह पत्रकारों के सामने आरोप लगाया कि ‘मेरे बेटे की हत्या की गई है, पुलिस की इन लोगों से सांठ-गांठ है.’ मंगलवार को पीड़िता के परिवार के अन्य सदस्य ने भी पत्रकारों को बताया था कि उन्हें धमकियां मिल रही हैं. एक सदस्य ने बताया, ‘जैसे ही हमने केस फाइल किया, आरोपी का बड़ा भाई हमें धमकियां देने लगा. कह रहा था कि सावधान रहो मेरे पापा सब-इंस्पेक्टर हैं.’

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

पांच लाख का मुआवज़ा
मामले को तूल मिलने पर कानपुर के डीएम डॉक्टर आलोक तिवारी ने एक वीडियो जारी कर बयान दिया है और कहा है कि दोनों मामलों की विवेचना की जा रही है. उन्होंने कहा, ‘पूरा प्रशासन पीड़िता के परिवार के साथ है. मुख्यमंत्री जी की ओर से मुख्यमंत्री विवेकाधीन कोष से पीड़िता के परिवार को पांच लाख का मुआवजा देने की घोषणा की गई है. दोनों ही मामलों की कड़ी विवेचना की जा रही है. मामले में अभियुक्तों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.’

चाय पीने गए थे अस्पताल के बाहर
कानपुर पुलिस चीफ डॉक्टर प्रीतिंदर सिंह ने एक वीडियो स्टेटमेंट जारी कर कहा, ‘जब मेडिकल चेकअप चल रहा था, उस वक्त लड़की के पिता चाय पीने के लिए बाहर आए. हमें पता चला है कि उनकी मौत ट्रक एक्सीडेंट में हुई है. उन्हें तुरंत कानपुर अस्पताल ले जाया गया था, लेकिन उनकी मौत हो गई. हमने एक्सीडेंट केस फाइल किया और जांच कर रहे हैं.’

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करे

दबाव के बाद दर्ज हुआ था रेप का केस
कानपुर पुलिस ने मंगलवार को पिता की शिकायत पर गैंगरेप और आपराधिक दबाव बनाने के आरोपों के तहत केस दर्ज किया था. कानपुर पुलिस के एक वरिष्ठ अधिकारी बृजेश श्रीवास्तव ने कहा कि ‘पिता ने रेप केस दर्ज कराया था और हमने तुरंत एक्शन लिया था. पीड़िता ठीक है. हमने जांच के लिए पांच टीमों का गठन किया है.’

जांच तेज़ करने का निर्देश
घटना पर सवाल उठाए जाने के बाद ट्विटर पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने कानपुर पुलिस के हैंडल को दोनों मामलों में तेजी से जांच करने का निर्देश दिया है और कहा है कि हादसे में शामिल ट्रक को जब्त करके ड्राइवर को जल्द ही गिरफ्तार किया जाए.

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here