29 C
Mumbai
Sunday, April 21, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

रूस ने दिए संकेत यूक्रेन में युद्ध समाप्त करने के

रूस ने बुधवार को कहा कि वह यूक्रेन में ‘सैन्य अभियानों को समाप्त करने में दिलचस्पी रखता है’ अगर उसके राष्ट्रपति वोलोदिमीर जेलेंस्की रूस द्वारा वार्ता में रखी गई शर्तों से सहमत हैं। रूसी मीडिया आरटी ने क्रेमलिन के हवाले से यह जानकारी दी। क्रेमलिन ने यह भी कहा कि उसने शांति वार्ता को बढ़ावा देने के लिए ‘सद्भावना संकेत’ के रूप में कीव पर हमले को रोक दिया है।

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

क्रेमलिन ने कहा, “कीव क्षेत्र से रूसी सेना की वापसी वार्ता के लिए स्थितियां बनाने के लिए सद्भावना का एक संकेत है, जिसके दौरान गंभीर निर्णय संभव हैं।” रूस ने कीव के आसपास से अपने लगभग दो-तिहाई सैनिकों को हटा दिया है, ज्यादातर यूक्रेन में कहीं और फिर से तैनात करने की योजना के साथ बेलारूस वापस भेज दिया गया है, एक वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारी ने सोमवार को कहा।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

अमेरिकी अधिकारी ने बताया, “उनके पास कीव के खिलाफ सुरक्षा बलों का एक तिहाई हिस्सा बचा है।” जहां रूस सैनिकों की वापसी को सद्भावना का संकेत कहता है, वहीं पश्चिमी सैन्य विश्लेषकों ने एएफपी को बताया कि ‘असफल कीव घेराबंदी’ रूसियों के लिए एक महत्वपूर्ण हार है। रूस ने कई मौकों पर स्पष्ट रूप से कहा है कि वह कानूनी गारंटी चाहता है कि यूक्रेन को कभी भी नाटो, पश्चिमी सैन्य गठबंधन में शामिल होने की अनुमति नहीं दी जाएगी। रूस चाहता है कि यूक्रेन इसे मजबूत करने के लिए अपने संविधान में बदलाव करे।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

मॉस्को ने यह भी मांग की है कि यूक्रेन दो रूसी समर्थक क्षेत्रों पूर्वी यूक्रेन- डोनेट्स्क और लुगांस्क की स्वतंत्रता को मान्यता देता है। रूस यह भी चाहता है कि यूक्रेन क्रीमिया को रूसी क्षेत्र के रूप में मान्यता दे, जिसे उसने 2014 में कब्जा कर लिया था। मालूम हो, रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन ने 24 फरवरी को यूक्रेन में मिलिट्री अभियान की घोषणा की थी। रूस और यूक्रेन के बीच युद्ध जारी है, जिसपर पूरी दुनिया की नजरें टिकी हुईं हैं।

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here