23 C
Mumbai
Saturday, February 24, 2024

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

Sikkim: ‘सिक्किम में बाहर से लाए जा रहे फर्जी मतदाता’, मुख्यमंत्री तमांग पर बाईचुंग भूटिया का बड़ा आरोप

Sikkim: पूर्व भारतीय फुटबॉल कप्तान और सिक्किम में मुख्य विपक्षी दल, सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट (एसडीएफ) के नेता बाईचुंग भूटिया ने मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग और उनकी पार्टी सिक्किम क्रांतिकारी मोर्चा (एसकेएम) पर 2019 के चुनावों के दौरान राज्य के बाहर से फर्जी मतदाताओं को लाने का आरोप लगाया है।

सिक्किम डेमोक्रेटिक फ्रंट पार्टी के उपाध्यक्ष भूटिया ने दावा किया कि उन्होंने अनजाने में सिक्किम में रहने के लिए ऐसे फर्जी मतदाताओं को जोड़ने में मदद की। दरअसल, पूर्व फुटबॉलर से राजनेता बने भूटिया बुधवार को पत्रकारों से बात कर रहे थे।

इस बार भी गोले बनेंगे सीएम
इस दौरान उन्होंने कहा, ‘साल 2019 में, जब हम (हमरो सिक्किम पार्टी) एसकेएम का समर्थन कर रहे थे, तो वे राज्य के बाहर से मतदाताओं को लाए थे। पहले ही दिन जब गोले (मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग) जेल से बाहर निकले, तो ऐसे कई फर्जी मतदाता एकत्र हुए थे।’ उन्होंने आगे कहा कि वे इस बार भी सिक्किम के बाहर के मतदाताओं को भर्ती कर रहे हैं। इससे 28,000 मतदाताओं की संख्या बढ़ी है। ऐसे में, इस बार भी गोले ग्रेटर सिक्किम के मुख्यमंत्री (दार्जिलिंग पहाड़ियों सहित) बनेंगे।

फर्जी मतदाताओं पर प्रतिबंध लगाने का वादा
बाईचुंग भूटिया ने एसडीएफ के साथ फर्जी मतदाताओं पर सख्त प्रतिबंध लगाने का वादा करते हुए कहा कि वे आवासीय प्रमाण पत्र या पहचान प्रमाण पत्र के बिना मतदाताओं को शामिल नहीं करेंगे। उन्होंने आगे कहा, ‘सिक्किम में फार्मास्युटिकल और अन्य कंपनियों से बहुत बड़ी आमद हो रही है। हम उचित वर्क परमिट सुनिश्चित करेंगे।’ 

इसके अलावा, उन्होंने कहा कि फर्जी मतदाता सामान्य सीट के मतदाताओं को प्रभावित कर रहे हैं, जबकि भूटिया और लेप्चा समुदायों को आदिवासी कानूनों और प्रमाणपत्रों द्वारा संरक्षित किया गया है। भूटिया ने आगे कहा, ‘यहां तक कि सिक्किम में वन नेशन वन राशन कार्ड भी हमें प्रभावित करता है। जब उन्हें राशन मिलता है, तो वे परिवारों को लाना शुरू कर देते हैं। केवल एसडीएफ ही विधानसभा में कानून के माध्यम से इसे रोक सकता है।’

चुनाव लड़ेंगे या नहीं…
उन्होंने मुख्यमंत्री पर एक और कटाक्ष करते हुए कहा कि वह एसकेएम के लिए सभी 32 विधानसभा सीटें जीतने के दावे कर रहे हैं, लेकिन इस बात की कोई गारंटी नहीं है कि उन्हें 2024 में चुनाव लड़ने दिया जाएगा या नहीं। मुख्यमंत्री के रूप में तमांग की वैधता उच्चतम न्यायालय में उनके खिलाफ लंबित मामले पर निर्भर है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री को वैधता मिलती है या नहीं यह भाजपा पर निर्भर करता है

भूटिया ने कहा कि एसकेएम को 2024 में चुनाव लड़ने के लिए भाजपा के लिए सीटों का त्याग करना होगा, अन्यथा भाजपा गोले को विधायक के रूप में अयोग्य घोषित कर देगी।

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here