26 C
Mumbai
Monday, August 8, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

"मानवाधिकर आभिव्यक्ति, आपकी आभिव्यक्ति" 100% निडर, निष्पक्ष, निर्भीक !

उड़नतश्तरियां को ओबामा ने भी देखा, माना इनकी गतिशीलता अमेरिकी मिलिट्री से कहीं ज्यादा !

उड़नतश्तरियां, कई दशकों से मानव सभ्यता के लिए एलियंस या परग्रही कौतूहल का विषय रहे हैं. सिनेमा में भी एलियंस को लेकर कई तरह के प्रयोग होते रहे हैं. अब इसी मुद्दे पर अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने अपनी राय रखी है. ‘द लेट लेट शो विद जेम्स कॉर्डन’ में बराक ओबामा ने एलियंस के अस्तित्व को लेकर कई दिलचस्प बातें कही हैं.

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

ओबामा ने कहा कि लोगों की एलियंस को लेकर अलग-अलग प्रकार की धारणा है. जब मैं साल 2008 में अमेरिका का राष्ट्रपति बना था तो मैं भी एलियंस के बारे में जानने को लेकर उत्साहित था. मैं जानना चाहता था कि क्या कोई ऐसी लैब है जहां इन एलियंस या उनकी उड़नतश्तरियों को रखा जाता है.

ओबामा ने कहा कि ऐसी कोई लैब तो नहीं है. लेकिन एक बात जो सच है वो ये है कि ऐसी कई फुटेज और वीडियो हैं जिनमें आसमान में रहस्यमयी चीजों को देखा जा सकता है. हालांकि, तमाम कोशिशों के बाद भी हम पता नहीं लगा पाए हैं कि वे आखिर हैं क्या. हम ये समझा नहीं सकते हैं कि वे आखिर कैसे मूव करते हैं, उनका प्रक्षेपवक्र कैसा है.

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

उन्होंने आगे कहा कि मैंने ऐसी वीडियोज देखी हैं जिनमें ये रहस्यमयी उड़नतश्तरियां या यूएफओ अमेरिका के मिलिट्री टारगेट्स को हैरेस करने की कोशिश कर रही हैं. असल में दिक्कत ये है कि इन उड़नतश्तरियों का पैटर्न समझना आसान नहीं है. इनकी गतिशीलता और स्पीड भी अमेरिकी मिलिट्री से कहीं ज्यादा है.

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

बराक ओबामा ने कहा कि हम सही तौर पर नहीं कह सकते हैं कि ये क्या है लेकिन मैं इतना कह सकता हूं कि इन्हें गंभीरता से लिए जाने की जरूरत है और इस पर लगातार जांच की जरूरत है. इसके अलावा मेरे पास इन्हें लेकर कहने के लिए कोई रिपोर्ट नहीं है.

गौरतलब है कि कुछ दिनों पहले पूर्व अमेरिकी नेवी लेफ्टिनेंट रायन ग्रेव्स ने कहा था कि साल 2015 से 2017 के बीच उन्होंने लगातार रहस्यमयी उड़नतश्तरियां देखी थीं. उन्होंने ये भी देखा था कि ये यूएफओ वर्जीनिया बीच के प्रतिबंधित हवाई क्षेत्र के पास ही नजर आती थीं.

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here