30 C
Mumbai
Tuesday, May 17, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

"मानवाधिकर आभिव्यक्ति, आपकी आभिव्यक्ति" 100% निडर, निष्पक्ष, निर्भीक !

‘नेशनल स्टार्ट-अप डे’ अब हर 16 जनवरी को मनाया जायेगा

देश में स्टार्ट-अप्स का कल्चर को बढ़ावा देने के लिए केंद्र सरकार ने 16 जनवरी को अब ‘नेशनल स्टार्ट-अप डे’ के रूप में मनाने का फैसला लिया है.

PM मोदी ने आज वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिए कहा कि देश के उन सभी स्टार्टअप्स को सभी इनोवेटिव युवाओं को बहुत-बहुत बधाई देता हूं, स्टार्टअप्स का ये कल्चर देश के दूर-दराज तक पहुंचे, इसके लिए अब 16 जनवरी को नेशनल स्टार्ट अप डे के रूप में मनाने का फैसला किया गया है.

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

उन्होंने कहा कि हमारा प्रयास देश में बचपन से ही छात्रों में इनोवेशन के प्रति आकर्षण पैदा करने और इनोवेशन को संस्थागत करने का है. 9,000 से अधिक अटल टिंकरिंग लैब्स आज बच्चों को स्कूलों में इनोवेटे करने और नए विचारों पर काम करने का मौका दे रही हैं.

ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में सुधार का जिक्र करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि इनोवेशन को लेकर भारत में जो अभियान चल रहा है, उसी का प्रभाव है कि ग्लोबल इनोवेशन इंडेक्स में भी भारत की रैंकिंग में बहुत सुधार आया है. वर्ष 2015 में इस रैंकिंग में भारत 81 नंबर पर था. अब इनोवेशन इंडेक्स में भारत 46 नंबर पर है.

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

मोदी सरकार की प्रमुख पहल स्टार्टअप इंडिया के छठे वर्ष में, कृषि, स्वास्थ्य, उद्यम प्रणाली, अंतरिक्ष, उद्योग 4.0, सुरक्षा, फिनटेक और पर्यावरण सहित विभिन्न क्षेत्रों के स्टार्टअप प्रधानमंत्री मोदी से मिले. देश के 150 स्टार्टअप्स को छह वर्किंग ग्रुप्स में बांटा गया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सामने ये ग्रुप, ग्रोइंग फ्रॅाम रूट्स, नजिंग द डीएनए, फ्रॉम लोकल टू ग्‍लोबल, टेक्‍नोलॉजी ऑफ फ्यूचर, बिल्डिंग चैंपियन्‍स इन मैन्युफैक्चरिंग और सस्‍टेनिबल डेवलेपमेंट को लेकर प्रेजेंटेशन देंगे.

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

हर ग्रुप तय समय के अंदर पीएम मोदी के सामने प्रेजेंटेशन देना होगा. पीएम और स्टार्टअप्स के बीच बातचीत का उद्देश्य यह समझना है कि स्टार्टअप कैसे देश की जरूरतों में सफलतापूर्वक योगदान दे सकते हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि जिस स्पीड और स्केल में आज भारत का युवा स्टार्ट-अप बना रहा है, वो वैश्विक महामारी के इस दौर में भारतीय की प्रबल इच्छा शक्ति और संकल्प शक्ति का प्रमाण है.

पहले बेहतरीन से बेहतरीन समय में इक्का-दुक्का कंपनियां ही बड़ी बन पाती थी, लेकिन बीते साल तो 42 यूनिकॉर्न देश में बने हैं. उन्होंने कहा कि हजारों करोड़ रुपये की ये कंपनियां आत्मनिर्भर होते, आत्मविश्वासी भारत की पहचान हैं.

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here