24 C
Mumbai
Saturday, January 28, 2023

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

"मानवाधिकर आभिव्यक्ति, आपकी आभिव्यक्ति" 100% निडर, निष्पक्ष, निर्भीक !

ब्रिटेन में हो रहा कड़ा विरोध पुलिस को अधिक शक्ति देने वाले बिल का, कई प्रदर्शनकारी गिरफ़्तार

ब्रिटेन में हो रहा कड़ा विरोध पुलिस को अधिक शक्ति देने वाले बिल का, ब्रिटेन में पुलिस को ताकतवर बनाने वाले बिल के विरोध में प्रदर्शनों का दौर तेज़ हो गया है। इस मुद्दे को लेकर हजारों लोग सड़कों पर उतर रहे हैं।

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

ब्रिटेन में हो रहा कड़ा विरोध पुलिस को अधिक शक्ति देने वाले बिल का

शनिवार को भी लंदन में व्यापक प्रदर्शन हुए थे। केवल ब्रिटेन की राजधानी लंदन में नहीं नहीं बल्कि इस देश के कोने-कोने में पुलिस को शक्ति देने वाले क़ानून के विरोध में प्रदर्शन किये जा रहे हैं।  इस संबन्ध में 9 लोगों को गिरफ़्तार किया गया है।

पुलिस को अधिक शक्ति देने वाले इस बिल का विरोध इसलिए हो रहा है, क्योंकि लोगों को डर है कि इन अधिकारों का दुरुपयोग करके आम लोगों को परेशान किया जा सकता है।इन विरोध प्रदर्शनों की विशेष बात यह है कि इनको किसी एक संगठन ने आयोजित नहीं किया है बल्कि यह कई मानवाधिकार संगठनों और व्यक्तिगत रूप से सोशल मीडिया कैम्पेन के जरिए शुरू किए गए हैं।  लगभग 600 संगठनों ने सरकार से इस बिल को वापस लेने की मांग की है।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

याद रहे कि ब्रिटेन की संसद ने पुलिस, क्राइम, सेंटेंसिंग एंड कोर्ट बिल पेश किया है।  300 पन्नों के इस बिल में पुलिस, अपराध और सज़ा से जुड़े अहम प्रस्ताव हैं। इनमें गंभीर अपराधों के लिए सज़ा को कड़ा करने सज़ा के समाप्त होने से पहले जेल से स्वतंत्र किये जाने जैसी कई सिफारिशें हैं।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

मौजूदा कानून में पुलिस प्रदर्शनों को तबतक रोक नहीं सकती, जबतक कि यह न साबित कर दे कि जान-माल और संपत्ति को ख़तरा है किंतु नया कानून पुलिस को अधिकार देता है कि वो खुद ही तय करेगी कि किसी प्रदर्शन से कितना ख़तरा है। पुलिस को प्रदर्शन का वक्त और आवाज की सीमा भी तय करने का अधिकार होगा। किसी स्मारक या मूर्ति को नुकसान पहुंचाने वालों को 10 साल तक की सजा का प्रावधान है।

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here