35 C
Mumbai
Saturday, October 16, 2021

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

सीबीआई ने हाथरस गैंगरेप मामले में चार्जशीट दाखिल की, माना हुआ था गैंगरेप

– रवि जी. निगम

नई दिल्ली : यूपी के हाथरस गैंगरेप मामले में चारों आरोपियों के खिलाफ सीबीआई ने चार्जशीट दाखिल कर दी है। शुक्रवार को चार्जशीट कोर्ट में दाखिल की गई है। मामले में सीबीआई ने मृृृतक पीढ़िता के साथ गैंगरेप और रेप के बाद हत्या की पुष्टि की है। आरोपियों के खिलाफ सीबीआई ने एससी/एसटी ऐक्ट के अन्तर्गत मामला दर्ज किया है। हाथरस गैंगरेप के इन सभी आरोपियों पर IPC की धारा 302, 354, 376 के अन्तर्गत मामला दर्ज किया है।

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

घटनाचक्र का साार

यूपी के हाथरस में उक्त कथित गैंगरेप पीढ़िता की दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में मृत्यु हो गई थी। गैंगरेप की घटना इस दलित बेटी के साथ 14 सितंबर को घटित हुई थी। इस घटना के बाद पीढ़िता को जेएन मेडिकल कॉलेज अलीगढ़ में भर्ती कराया गया। जिसके बाद उसकी हालत बिगड़ने पर उसे दिल्ली रेफर किया गया, जहां उसकी मौत हो गई। जिसमें चार नामजद आरोपी को गिरफ्तार कर दिया गया था। तथा चरणबद्ध तरीके से पुलिस ने उन्हे गिरफ्तार किया था बैरहाल अभी चारों आरोपी जेल में कैद हैं। उक्त मामले की जांच सीबीआई द्वारा कोर्ट की निगरानी में की जा रही है। जिसकी सीबीआई ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल की है।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें

हाथरस गैंगरेप सीबीआई ने माना पीढ़िता के साथ हुआ था रेप

सीबीआई ने जहां एक तरफ जांच के बाद माना है कि हाथरस गैंगरेप की पीढ़िता के साथ रेप की घटना घटित हुई थी। जबकि घटना के बाद ‘एडीजी’ लॉ – एण्ड ऑर्डर प्रशांत कुमार ने पीसी के माध्यम से साफ किया था कि पीढ़िता के साथ रेप की घटना हुई ही नहीं। एडीजी ने कहा था कि गले में चोट लगने के कारण से ट्रॉमा में इलाज़ के दौरान पीढ़िता की मौत हुई है।

“MA news” app डाऊनलोड करें और 4 IN 1 का मजा उठायें  + Facebook + Twitter + YouTube.

MA news Logo 1 MANVADHIKAR ABHIVYAKTI NEWS

Download now

सवाल योगी सरकार के शासन-प्रशासन पर खड़े हो रहे थे

वहीं हाथरस गैंगरेप की इस घटना के बाद योगी सरकार के शासन-प्रशासन पर लगातार सवाल खड़े हो रहे थे क्योंकि पीढ़िता के परिवार वालों ने प्रशासन पर आरोप लगाया था कि उनकी इजाज़त के बिना पीढ़िता का अंतिम संस्कार रात्रि के लगभग दो बजे कर दिया गया। जिस पर स्वत: संज्ञान लेते हुए इलाहाबाद हाईकोर्ट ने राज्य सरकार और यूपी के आला अधिकारियों को तलब किया था।

पीढ़िता के भाई पर आरोपी ने लगाया था आरोप

दरअसल चारों आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद, उसमें से एक आरोपी द्वारा यूपी पुलिस को पत्र भी लिखा गया था जिसमें आरोपित युवक ने लिखा था कि उसका पीढ़िता के साथ पहले से ही संबंध था। और उन दोनों की दोस्ती को उसके परिवार वाले कतई पसंद नहीं करते थे जिसके चलते उसके भाई ने हीं खुद पीढ़िता की हत्या की है।

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here