29 C
Mumbai
Thursday, July 7, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

"मानवाधिकर आभिव्यक्ति, आपकी आभिव्यक्ति" 100% निडर, निष्पक्ष, निर्भीक !

10 दिनों की तेजी पर लगा ब्रेक, निवेशकों ने की जमकर बिकवाली

10 दिनों की तेजी के बाद घरेलू शेयर बाजारों आज रही मंदी

मुंबई: पिछले 10 दिनों की तेजी पर घरेलू शेयर बाजारों में आज ब्रेक लग गया और बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स मंगलवार के रिकॉर्ड स्तर से 263.72 अंक यानी 0.54 प्रतिशत गिरकर 48,174.06 अंक पर तथा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 53.25 अंक यानी 0.38 प्रतिशत की टूटकर 14,146.25 अंक पर बंद हुआ,10 दिनों की तेजी के बाद घरेलू शेयर बाजारों आज रही मंदी।

ऊर्जा, एफएमसीजी, आईटी और टेक समूहों ने बाजार पर सबसे अधिक दबाव बनाया। इनमें निवेशकों ने जमकर बिकवाली की। इससे पहले सेंसेक्स 21 दिसंबर के बाद से लगातार 10 दिनों बढ़त में रहा था। सेंसेक्स की शुरुआत आज भी करीब 200 अंक की बढ़त में हुई, लेकिन कुछ ही देर में बिकवाली हावी होने से यह लाल निशान में चला गया और पूरे दिन उबर नहीं सका।

“MA news” app डाऊनलोड करें और 4 IN 1 का मजा उठायें  + Facebook + Twitter + YouTube.

Download now

मझौली कंपनियों में जहाँ निवेशकों ने पैसा लगाया, वहीं छोटी कंपनियों में वे बिकवाल रहे। बीएसई का मिडकैप 0.39 प्रतिशत चढ़कर 18,749.03 अंक पर पहुँच गया। स्मॉलकैप 0.14 प्रतिशत की गिरावट में 18,615.17 अंक पर बंद हुआ।

मानवाधिकार अभिव्यक्ति न्यूज की चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

सेंसेक्स की कंपनियों में आईटीसी का शेयर तीन प्रतिशत के करीब टूट गया। रिलायंस इंडस्ट्रीज में भी ढाई फीसदी से अधिक की गिरावट रही। बजाज फाइनेंस का शेयर दो प्रतिशत और एक्सिस बैंक का डेढ़ प्रतिशत के करीब टूटा। पावरग्रिड में करीब साढ़े चार फीसदी की बढ़त देखी गई। भारती एयरटेल और ओएनजीसी के शेयर भी दो प्रतिशत से अधिक चढ़े।

रोचक खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें 

एशियाई शेयर बाजारों में मिश्रित रुख रहा। दक्षिण कोरिया का कोस्पी 0.75 प्रतिशत और जापान का निक्की 0.38 प्रतिशत गिरकर बंद हुआ। वहीं, चीन का शंघाई कंपोजिट 0.63 प्रतिशत और हांगकांग का हैंगसेंग 0.15 प्रतिशत की तेजी में रहा। यूरोप में शुरुआती कारोबार में ब्रिटेन का एफटीएसई 1.81 प्रतिशत और जर्मनी का डैक्स 0.88 फीसदी चढ़ा।

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here