किसान एकता मोर्चा के पेज को फेसबुक ने किया ब्लॉक, फेसबुक सोशल मीडिया या सरकारी मीडिया ? ये जनता नहीं सरकार की हिमायती ?

0
103
किसान एकता मोर्चा के पेज
किसान एकता मोर्चा के पेज

– रवि जी. निगम

किसान एकता मोर्चा के पेज को ब्लॉक क्यों ? फेसबुक जनहित की बात करने वालों के ही क्यों करती है अकाउण्ट ब्लॉक ? भक्तों के अकाउण्ट पर लिखी गालियां भी इसे दोहा या चोपाई लगती हैं आखिर क्यों ? क्या ‘नी’ इण्डिया की हो गयी शुरुवात ? जब ‘ईस्ट’ नहीं टिक पायी तो ‘नी’ की नींव नहीं टिकने देगी आज़ाद भारत के आज़ाद की जनता…. आज भी लाला, बोस , भगत हैं जिन्दा।

नई दिल्ली : किसान एकता मोर्चा के पेज को फेसबुक ने किसानों द्वारा इस्तेमाल किए जा रहे फेसबुक अकाउंट को लाइव प्रसारण के बाद ब्लॉक कर दिया क्योंकि किसान सरकार के नए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं इस लिये इंस्टाग्राम अकाउंट पर भी कंटेंट डालने पर रोक लगा दी गई है।

“MA news” app डाऊनलोड करें और 4 IN 1 का मजा उठायें  + Facebook + Twitter + YouTube.Download now

वहीं ऐसा आरोप प्रदर्शनकारियों ने लगाया है कि सरकार के इस कदम ने ऑनलाइन सेंसरशिप के बारे में बहस को वापस फिर से खड़ा कर दिया है, हालांकि फेसबुक ने पेज को बाद में दोबारा फिर खोल दिया साथ ही इंस्टाग्राम ने जो नया कंटेंट अपलोड करने की पाबंदी लगाई थी उसे भी हटा ली गई है।

विदित हो कि रविवार सायं 7:00 बजे के दौरान 7 लाख से ज्यादा फॉलोअर्स रखने वाले उस ‘किसान एकता मोर्चा’ के पेज को फेसबुक ने ब्लॉक कर दिया था, यह आंदोलन के लिए इस वक्त उपयोग किये जा रहे सबसे बड़े पेजों में शुमार रखता है, इस बात की सूचना इन्ही के मैनेजर द्वारा दी गयी, कि फेसबुक द्वारा उनकी पहुंच को अवरुद्ध कर दिया गया है, वहीं फेसबुक का कहना है कि वो (किसानों का पेज) स्पैम पर अपने कमन्युटी मानकों के खिलाफ गया था।

मानवाधिकार अभिव्यक्ति न्यूज  की रोचक खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

वहीं उन्होंने कहा कि इंस्टाग्राम पर भी उनके पेज, कोई नया कंटेंट अपलोड करने पर पाबंदी लगाई गई जो कि फेसबुक के स्वामित्व में ही आती है, उन्होंने बताया कि इंस्टाग्राम पर भी ‘किसान एकता मोर्चा’ का अकाउंट अभी चल रहा है लेकिन . यह करीब सायं 7:00 बजे के दरम्यान की घटना है जब किसान संगठन प्रेस कॉन्फ्रेंस करने के बाद योगेंद्र यादव अपना फेसबुक लाइव कर रहे थे, उसी दरम्यान फेसबुक पेज अचानक बंद हो गया।

हालांकि तीन घंटे के बाद में फेसबुक ने ‘किसान एकता मोर्चा’ का पेज पुनः खोल दिया, किसानों के आईटी सेल के मुताबिक इंस्टाग्राम ने जो नया कंटेंट अपलोड करने की पाबंदी लगायी थी वह भी हटा दी गई है।

किसान मोर्चा आईटी सेल के बलजीत सिंह ने अपने एक बयान में कहा कि “शाम 7 बजे फेसबुक पेज को उड़ा दिया गया. हमने अपनी लाइव स्ट्रिमिंग में मोदी जी के किसानों के लिए जो बात कही गई थी उसी क्लिप को लेकर उनके जवाब दिए थे. किसान एकता मोर्चा की पहुंच 54 लाख तक थी और एक लाख हमारे फॉलोअर्स थे, हम सभी किसान नेताओं के साथ वापस प्रेस कॉन्फ्रेंस करेंगे।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here