28 C
Mumbai
Thursday, October 6, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

"मानवाधिकर आभिव्यक्ति, आपकी आभिव्यक्ति" 100% निडर, निष्पक्ष, निर्भीक !

टूलकिट मामला: दिशा रवि के दो दोस्तों निकिता जैकब और शांतनु के खिलाफ गैर-जमानती वारंट

नई दिल्ली: किसानों के प्रदर्शन से जुड़ी टूलकिट मामले में दिशा रवि के बाद अब उनके करीबी लोगों पर दिल्ली पुलिस का शिकण्जा कसने लगा है| दिल्ली पुलिस ने निकिता जैकब और शांतनु के खिलाफ गैर-जमानती वारंट जारी कर दिया है जो दिशा रवि के मित्र बताये जा रहे हैं । निकिता जैकब ने बॉम्बे हाईकोर्ट में उनके खिलाफ जारी गैर-जमानती वारंट के खिलाफ ट्रांजिट बेल अर्जी दायर की गई।

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

ट्विटर पर आपत्तिजनक चीजे फैलाना था मकसद
खबरों के अनुसार पोइटिस जस्टिस फाउंडेशन के संस्थापक मो धालीवाल ने अपने सहयोगी पुनीत के जरिए निकिता जैकब से संपर्क किया जिसका मकसद गणतंत्र दिवस से पहले एक ट्विटर पर आपत्तिजनक चीजे फैलाना था। गणतंत्र दिन से पहले एक ज़ूम बैठक हुई जिसमें मो धालीवाल, निकिता, दिशा और अन्य लोगों ने भाग लिया था।

फरार हैं निकिता
पुलिस के अनुसार 11 जनवरी को निकिता जैकब के घर स्पेशल सेल की टीम सर्च करने पहुंची थी। टीम उनके घर फोन और इलेक्ट्रॉनिक डिवाइस की जांच करने गई थी। देर शाम होने की वजह पूछताछ नहीं हो पाई जिसके बाद स्पेशल सेल द्वारा जांच में शामिल होने के लिए निकिता से दस्तावेज पर साइन करवा लिए थे, इसके बाद निकिता फरार हो गई।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें

दिशा रवि हैं मुख्य साज़िशकर्ता
दिल्ली पुलिस के एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि टूलकिट दस्तावेज से संबंधित आपराधिक साजिश से जुड़ी जांच के मामले में दिशा रवि को बेंगलुरु से गिरफ्तार किया गया। वह टूलकिट का संपादन करने वालों में से एक हैं और दस्तावेज को बनाने एवं फैलाने के मामले में मुख्य साजिशकर्ता हैं।

संपर्कों की जांच कर रही है पुलिस
उन्होंने कहा कि दिशा को यहां की एक अदालत के समक्ष पेश किया गया, जहां से उसे पांच दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया गया। पुलिस इस बात की भी जांच कर रही है कि क्या वह और भी लोगों के संपर्क में थी जो इस मामले में संलिप्त हैं।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें 

गूगल से मांगी गयी है जानकारी
दिल्ली पुलिस ने शुक्रवार को गूगल और अन्य सोशल मीडिया कंपनियों से ‘टूलकिट’ बनाने वालों से जुड़े ईमेल आईडी, डोमेन यूआरएल और कुछ सोशल मीडिया अकाउंट की जानकारी देने को कहा था। जलवायु परिवर्तन कार्यकर्ता ग्रेटा थनबर्ग और अन्य ने यह ‘टूलकिट’ ट्विटर पर साझा की थी। दिल्ली पुलिस ने टूलकिट निर्माताओं के खिलाफ चार फरवरी को प्राथमिकी दर्ज की थी।

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here