30 C
Mumbai
Monday, May 16, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

"मानवाधिकर आभिव्यक्ति, आपकी आभिव्यक्ति" 100% निडर, निष्पक्ष, निर्भीक !

प्रियंका बोलीं हमारे प्रधानमंत्री जी भी अहंकारी राजा की तरह कर रहे वर्ताव

मुजफ्फरनगर: हमारे प्रधानमंत्री जी भी अहंकारी राजा बन गए हैं। कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने शनिवार को कहा कि पूरा देश नहीं पूरी दुनिया देख रही है। पुरानी कहानियों में अहंकारी राजा होता था, जो जवान इस देश की सीमा की सुरक्षा पर तैनात है वो उस किसान का बेटा है। उनका सम्मान होना चाहिए। वो (पीएम मोदी) बताएं कि ये कानून किसान से पूछकर बनाया गया।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

किसान से लूट, दो पूंजीपति मित्रो को छूट
प्रियंका वाड्रा ने बघरा में किसान पंचायत को सम्बोधित करते हुए कहा कि आज किसान से लूट हो रही है और हमारे प्रधानमंत्री के दो पूंजीपति मित्रो को छूट दी गयी है। 90 दिनों से लाखों किसान इस देश की राजधानी दिल्ली के बाहर बैठे हुए है, संघर्ष कर रहे है आंदोलन कर रहे है। 215 किसान शहीद हुए। बिजली काटी गयी,पानी रोका गया,उन्हे मारा पीटा गया। वे शांति के साथ बैठे थे। देश की राजधानी की सीमा को इस तरह से बनाया गया जैसे देश की सीमा हो और तमाम पुलिस फोर्स लगायी गयी। किसानों को प्रताड़ित किया गया।

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

किसानों को किया अपमानित
उन्होने कहा कि किसान को अपमानित किया गया और उसे देशद्रोही और आतंकवादी कहा। प्रधानमंत्री ने किसान का मजाक उडाया और उसे परजीवी व आंदोलन जीवि कहा। इंसान की तरह देश का भी हृदय होता है उस हृदय केे धडकने से देश जीवित होता है। मेरा मानना है कि हमारे देश का हृदय उसका दिल किसान है जो जमीन से जुडा है। जमीन को सींचता है उसे उपजाऊ बनाता है। इस देश का अन्नदाता देश को जीवित करता है लेकिन आज जब चौधरी टिकैत के आंखों में आंसू आते है तो प्रधानमंत्री के होठों पर मुस्कुराहट आती है उन्हे मजाक सूझता है।

गन्ने का भुगतान अबतक नहीं
कांग्रेसी नेता ने कहा “ प्रधानमंत्री ने हर चुनाव में यह वादा किया था कि गन्ने का भुगतान आपको दिया जायेगा । किसान को गन्ने का भुगतान अब तक नहीं मिला। सरकार कहती है कि किसान की आमदनी दुगनी होगी लेकिन नहीं हुई। पूरे देश में गन्ने का बकाया भुगतान 15 हजार करोड रूपये है जबकि दुनिया की सैर के लिये प्रधानमंत्री ने दो हवाई जहाज खरीदे और उनकी कीमत 16 हजार करोड रूपये है। आपके गन्ने के भुगतान से ज्यादा उनके हवाई जहाज की कीमत है उनके पास उन्हे खरीदने के लिए पैसे है लेकिन किसान के गन्ना भुगतान के पैसे नहीं है। ये स्थिति आज देश की है।”

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें

आप डटे रहे तो सरकार को पीछे हटना पड़ेगा
प्रियंका ने अपने पिता और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी का जिक्र करते हुए किसान पंचायत में कहा कि आपने संघर्ष किया था तो मेरे पिता जी राजीव गांधी ने आपकी बातें मानी थीं. मेरे पिता जी ने आपको सम्मान दिया. मैं भी खुद्दार हूं, मैं ग़द्दारी नहीं करूंगी. मैं राजनीति के लिए मुंह दिखाने के लिए नहीं आई. मैं बार बार आती रहूंगी. हम आपके साथ संघर्ष करेंगे. आप पीछे मत हटिए. इस सरकार को पीछे हटना पड़ेगा.

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here