24 C
Mumbai
Saturday, January 28, 2023

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

"मानवाधिकर आभिव्यक्ति, आपकी आभिव्यक्ति" 100% निडर, निष्पक्ष, निर्भीक !

केरल में युवक को जहर दे कर मारा, परिजन को पुलिस ने युवती के बाद किया गिरफ्तार

केरल पुलिस ने संबंध तोड़ने से इनकार करने पर 23 वर्षीय पुरुष मित्र को ज़हर देकर जान से मारने की आरोपी युवती के दो रिश्तेदारों को गिरफ्तार किया है। अपराध शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि इस मामले में सबूत नष्ट करने के आरोप में महिला की मां और चाचा को गिरफ्तार किया गया है। अधिकारी ने ”पीटीआई-भाषा” से कहा, ”हम फिलहाल उन्हें सबूत जुटाने के लिए ले जा रहे हैं।” ग्रीष्मा (22) को 14 अक्टूबर को अपने आवास पर पीड़ित शेरोन राज (23) को ज़हर दे कर जान से मारने की बात कबूल करने के एक दिन बाद सोमवार दोपहर को गिरफ्तार किया गया था। 

गिफ्तारी से पहले, ग्रीष्मा ने यहां नेडुमंगाड थाने में शौचालय ले जाने के दौरान कीटाणुनाशक खाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया था। युवती को तुरंत अस्पताल ले जाया गया और उसकी स्वास्थ्य स्थिति स्थिर होने की पुष्टि के बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) डी. सिल्पा ने संवाददाताओं से कहा कि उन महिला पुलिसकर्मियों के खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई की जाएगी, जिन्हें आरोपी की निगरानी के लिए तैनात किया गया था और वह उसे निर्दिष्ट शौचालय के अलावा दूसरे शौचालय में ले गई थीं। जिले के परसाला निवासी शेरोन (23) को ज़हर देने की बात कबूल करने के बाद 30 अक्टूबर की रात ग्रीष्मा को हिरासत में ले लिया गया था। 

दरअसल, युवती का विवाह किसी अन्य व्यक्ति से तय हो गया था, इसलिए वह अपने प्रेमी से संबंध तोड़ने को कह रही थी। पुलिस ने कहा कि युवती ने 14 अक्टूबर को शेरोन को अपने घर आमंत्रित करने के बाद उसने कथित तौर पर कीटनाशक से युक्त आयुर्वेदिक काढ़ा पीने के लिए दिया था। मेडिकल कॉलेज में 10 दिनों से अधिक समय तक इलाज के बावजूद 25 अक्टूबर को शेरोन की मृत्यु हो गई। पुलिस ने कहा था, ”युवती का विवाह किसी अन्य व्यक्ति के साथ तय हो गया था। उसने प्रेमी से कई तरीकों से पीछा छुड़ाने की कोशिश की, लेकिन बार-बार असफल होने के बाद उसे खत्म करने का फैसला किया। उसके बयानों से हमें यही प्रतीत हो रहा है।” 

मृत्यु से पूर्व अपने बयान में, शेरोन ने ग्रीष्मा या ज़हर देने में उसकी भूमिका के बारे में किसी तरह का कोई उल्लेख नहीं किया। शेरोन की हालत बिगड़ने पर मेडिकल कॉलेज के अधिकारियों ने इसे कानूनी और चिकित्सा सहायता का मामला मानकर पुलिस को सूचित किया था। एक मजिस्ट्रेट ने 20 अक्टूबर को उसका बयान दर्ज किया था। शेरोन के परिवार का आरोप है कि युवती ने उसे मारने के लिए किसी तरह का जूस या काढ़ा पिलाया था।

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here