30 C
Mumbai
Monday, May 23, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

"मानवाधिकर आभिव्यक्ति, आपकी आभिव्यक्ति" 100% निडर, निष्पक्ष, निर्भीक !

बम की खबर बंगलुरु के स्कूलों में निकली अफवाह, हलकान हुई पुलिस

कर्नाटक के बेंगलुरु में कई स्कूलों को धमकी भरे ईमेल मिले हैं. इस मेल में कहा गया है कि स्कूल में ‘बेहद पॉवरफुल बम’ लगाया गया है. हालांकि छानबीन में पुलिस को कुछ भी हाथ नहीं लगा. पॉवरफुल बम को लेकर कम से कम 8 स्कूलों से शिकायतें मिली थीं, जिसके बाद पुलिस ने हर स्तर पर खोजबीन की. लेकिन जांच में ऐसा कोई सुराग नहीं मिला. बेंगलुरु (पूर्वी क्षेत्र) के अतिरिक्त पुलिस आयुक्त सुब्रमण्येश्वर राव ने बताया, ‘हमें स्कूलों की जांच करने के बाद कुछ नहीं मिला. हमारी दो टीमें ईमेल के सोर्स का पता लगाने का काम कर रही हैं.’

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ >> क्लिक <<करें

उन्होंने कहा, ‘सोर्स का पता चलने के बाद हम आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे.’ सुब्रमण्येश्वर ने कहा, ‘हमें कम से कम 8 स्कूलों से बम को लेकर शिकायत मिली थी. सभी स्कूलों में मेल भेजने के लिए अलग-अलग ईमेल आईडी का इस्तेमाल किया गया है. इस घटना को स्कूलों में होने वाली SSLC एग्जाम के साथ भी जोड़ा जा रहा है. ऐसा इसलिए क्योंकि पहले जब भी यह परीक्षाएं हुई हैं तब ऐसी फर्जी कॉल आईं हैं.’

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

अतिरिक्त पुलिस आयुक्त ने कहा, ‘छात्रों और माता-पिता को टेंशन लेने की बिल्कुल जरूरत नहीं है. पुलिस ने हालात को काबू में कर लिया है. हमने सभी स्कूलों की जांच की है और ऐसा कुछ भी नहीं मिला है.’ उन्होंने कहा, ‘ऐसा लगता है कि किसी ने फर्जी मेल किए हैं. हालांकि हम इस मामले को हल्के में नहीं ले रहे हैं. हमने अपने बम डिटेक्शन एंड डिस्पोजल स्क्वॉड को सभी स्कूलों में भेज दिया है. वो जल्द ही अपना काम पूरा कर लेंगे. ईमेल आईडी के सोर्स को खोजने के लिए दो टीमें काम कर रही हैं.’

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

सुब्रमण्येश्वर राव ने आगे कहा, ‘पुलिस इस बात का पता लगाने की कोशिश कर रही है कि बम को लेकर आए धमकी वाले ईमेल किसने भेजे हैं.’ बता दें कि स्कूलों को भेजे गए ईमेल में दावा किया गया था कि स्कूलों में पॉवरफुल बम प्लांट किया गया है. यह भी कहा गया था कि “यह ईमेल कोई मजाक नहीं है, इसलिए फौरन पुलिस को बुलाया जाए. सैकड़ों लोगों की जान जान को खतरा है. देर न करें. अब सब कुछ आपके हाथों में है.”

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here