30 C
Mumbai
Friday, May 20, 2022

आपका भरोसा ही, हमारी विश्वसनीयता !

"मानवाधिकर आभिव्यक्ति, आपकी आभिव्यक्ति" 100% निडर, निष्पक्ष, निर्भीक !

रियाज़ पर मिसाइल अटैक, रियाज़ और जद्दा में हवाई उड़ानें बंद

शनिवार को अलजज़ीरा टीवी चैनल ने शाम को घोषणा की थी कि यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन ने रियाज़ पर मिसाइल हमला किया है।

अलजज़ीरा के अनुसार सऊदी अतिक्रमणकारी गठबंधन के प्रवक्ता तुर्की अलमालेकी ने दावा किया है कि यमन के अंसारुल्लाह ने सऊदी अरब की राजधानी रियाज़ की ओर एक बैलेस्टिक मिसाइल फायर किया था परंतु लक्ष्य पर लगने से पहले ही वह विस्फोटित हो गया।

अधिक महत्वपूर्ण जानकारियों / खबरों के लिये यहाँ क्लिक करें

सऊदी गठबंधन के प्रवक्ता की ओर से यह दावा ऐसी स्थिति में किया जा रहा है जब कुछ सूत्रों ने रियाज़ में कई विस्फोट होने और आग लगने की सूचना दी है।

समाचारिक सूत्रों ने रिपोर्ट दी है कि शनिवार की शाम को रियाज़ की ओर चार मिसाइल फायर किये गये जिसके बाद रियाज़ और जद्दा हवाई अड्डों की उड़ानें बंद कर दी गयीं।

सऊदी सूत्रों ने इसी प्रकार रिपोर्ट दी है कि यमन के अंसारुल्लाह ने सऊदी अरब के कुछ लक्ष्यों पर ड्रोन हमले भी किये हैं।

निडर, निष्पक्ष, निर्भीक चुनिंदा खबरों को पढने के लिए यहाँ क्लिक करे

यमन के अंसारुल्लाह आंदोलन ने अभी तक न तो इस हमले पर कोई प्रतिक्रिया व्यक्त की है और न ही इस हमले की ज़िम्मेदारी स्वीकार की है।

जानकार हल्कों का मानना है जब सद्दाम ने ईरान पर हमला किया था तो इराक समय के हर आधुनिकतम हथियारों से लैस था और अपनी विदित शक्ति के नशे में चूर सद्दाम ने एक पत्रकार के जवाब में बड़े अहंकार से कहा था कि एक सप्ताह बाद मुझसे तेहरान में साक्षात्कार करना पर एक सप्ताह नहीं बल्कि आठ साल बीत गये और सद्दाम दुनिया से चले गये पर उनका सपना साकार न हो सका।

‘लोकल न्यूज’ प्लेटफॉर्म के माध्यम से ‘नागरिक पत्रकारिता’ का हिस्सा बनने के लिये यहाँ >>क्लिक<< करें

जानकार हल्कों का मानना है कि लगता है कि अब यही हालत सऊदी शासकों की होने वाली है जिन्हें अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस के आधुनिकतम हथियारों पर बड़ा घमंड है और 26 मार्च 2015 को जब सऊदी अरब ने यमन पर हमला किया था तो उसने यह सोचा था कि बस कुछ दिनों के भीतर ही यमन पर कब्ज़ा करके वहां मंसूर हादी की अपनी कठपुतली सरकार बैठा देगा परंतु कुछ ही दिनों का सपना देखने वालों का सपना आज तक साकार न हो सका और यमनी सेना, अंसारुल्लाह और यमन की बहादुर जनता ने अतिक्रमणकारियों के घमंड और उनके समर्थकों के आधुनिकतम हथियारों की हवा निकाल दी है और वह दिन दूर नहीं जब यमन की बहादुर जनता अतिक्रमणकारियों को ऐसा सबक़ सिखायेगी जिसे वे कभी भी नहीं भुलेंगे और यमनी जनता का अदम्य साहस और शूरवीरता इतिहास का स्वर्णिम अध्याय बनेगा

(सौ.पी.टी.)

ताजा खबर - (Latest News)

Related news

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here